--आलोचक--


Facebook
कबि - कुमार विघ्नेश झा जी

हे आलोचक कर जोड़ी  नमन
हम निसदिन अपनेक करैत छि
अहिं मार्ग देखा हमारा 
आइना मे सदखिन मुँह देखबैत छी 

जौं नहि भेंट होएता अहाँ सँ 
जिनगी हमर त' व्यर्थ छलै 
अपनेक आलोचन सँ हमरो
जिनगी मे बहुत इजौत भेलै

अपन मुँह अपने  बड्ड सुंदर
सब के अपने लागैत छै
आलोचक निश्वार्थ भाव सँ
सुन्नर सन मार्ग देखाबैत छै

बेर बेर करि अहिंक नमन
जखन हम कलम उठाबैत छी
अहिं छी ज्ञानक पुष्प सुमन
अहिं के गुरु हम मानैत छी

✍🏽 ...कुमार विघ्नेश झा
०७-०८-२०१७

0 टिप्पणियाँ Blogger 0 Facebook

 
Apanmithilaa.com © 2016.All Rights Reserved.

Founder: Ashok Kumar Sahani

Top