राजपा नेताकेँ प्रतिक्रिया- एमाले मधेसविरोधी प्रमाणित भेल फोरम नेता कहै छै- तीन दलकेँ स्वार्थ मिल्ल

अपन मिथिला/ भादौ ५  । संविधान संशोधन विधेयकमें दु तिहाई बहुमत नै पुछल आ फेल भेलकए बादः राष्ट्रिय जनता पार्टी (राजपा) केँ नेतासभ एमालेऊपर गुशा भेल अछि । मुदा, खेलके नियमके स्वीकार करने राजपा नेताके प्रारम्भिक प्रतिक्रिया अछि ।


संविधान संशोधनके विपक्षमें मतदान केने एमाले अपना मधेस विरोधीमात्रै नै, परिवर्तन विरोधी आ राष्ट्रिय एकताके विरोधी प्रमाणित केने राजपा नेताके तर्क अछि ।

राजपाके अध्यक्ष मण्डलके नेता राजकिशोर यादव कहलक ‘एमाले संविधान संशोधनके विपक्षमा गेल, एहि से ऊ मधेस विरोधीमात्रै नै, जनजाति, दलित लगायत सीमान्तीकृत समुदायके पक्षमें नै रहल से स्प्ष्ट भेल अछि ।’

सीमान्तीकृत समुदायसभके राष्ट्रिय मूल प्रवाहमें लबैके लेल कोई  नै चाहमें अछि से  आय प्रमाणित भेल कहैत यादव एमालेपुर गुशा केने छेल। उ आगु कहलक- ‘एमाले मधेसविरोधी मात्रै नै, परिवर्तनविरोधी सेहो अछि ।’

संविधान संशोधन प्रस्ताव पारित हेत तब यकरा जनतासभ के आपसमें जोइड के एक ठाम बनैत यादव दाबी छेल । उ कहलक, ई से अखुन मुलुकके बंटबारा केने अछि। विधेयके फेल भेल  तब आब राजपा एहि बिषय में  फेर एकबेरि सोच्न बाध्य भेल अछि।’

संविधान संशोधनसम्बन्धी भेल चुनाब में  राजपा सेहो भाग लेलक ओहि  अनुसार पार्टी आगु बढ्त यादवके प्रतिक्रिया अछि । अब हुवेबला तेसर बेरि के चुनावमें भाग लै के संकेत करैत यादव कलहक- ‘खेलके नियममें भाग ललिय हम सभ आब ओहि अनुसार अगाडि बढब । हमसभ अब ई विषय लके  जनतामें जेब।’

संविधान संशोधन विधेयकऊपर भोटिङ भेल समय संसदमें उपस्थित भेल राजपा अध्यक्ष मण्डलके दोषर  सदस्य महेन्द्र राय यादव परिणाम स्वीकार करब कहलक। उ कहलक-  पास होइ के छेल मुदा, नै भेल। प्रक्रियामें सहभागी भेली तब परिणामके स्वीकार करब ।’

अध्यक्ष मण्डलके दोषर  सदस्य अनिल झा कलहक बाढ़ि पीडित मधेसी जनताऊपर दोसर पीड़ा थोपल गेल से प्रतिक्रिया देलक।

फोरम नेता कहै छै- ३ दलके स्वार्थ मिल्ल, अब चुनावमें देखाउत


दोषर मधेस केन्द्रित दल संघीय समाजवादी फोरम कहलक तीन दलके स्वार्थमें संशोधन निर्णयार्थ पेश भेल आरोप लगौने अछि । शिवजी यादव कहलक, ‘कांग्रेसके अपन स्वार्थ सिद्ध हेत से लागल, ऒर दलके सही स्वास्र्थ मिल्ल ।’

पहिले संविधान संशोधन विधेयक लबैतब संसद  बन्द करैवाला प्रमुख विपक्षी एमाले विपक्षमें मत दके उ कहलक, ‘मधेसके मुद्दा कमजोर करै सकै छि ओहि से ई चाल छेल । मुदा, मधेसमें ई मुद्दा और निखैर के येल अछि । ई आगु  दिनके चुनावमें देखैत ।’


फ़ाइल फ़ोटो

0 टिप्पणियाँ Blogger 0 Facebook

 
Apanmithilaa.com © 2016.All Rights Reserved.

Founder: Ashok Kumar Sahani

Top