बाढ़िसे सप्तरीकेँ १८ टा सिँचाइ आयोजनामें क्षति भेल 

अपन मिथिला/ सप्तरी, भादौ ७ :- एहि बेरि के बाढ़ि'क कारण सँ सप्तरी जिलामें सञ्चालन में रहल बहुत किसिमक १८ टा सिँचाइ आयोजनामें पूर्णरुपसे क्षति भगेल अछि।सिँचाइ विकास डिभिजन कार्यालय सप्तरीद्वारा सञ्चालित नयाँ आ पुरानका सिँचाइ आयोजना क्षतिभेला सँ करिब नेपाली रु. ४० करोड बराबरके क्षति भेल अछि। सिँचाइ आयोजनाके पूरा काम सेहो बन्द भगेल अछि ।



 कार्यालय प्रमुख अशोक साहके अनुसार जिला में  खाँडो, मोहुली, जिता, खडक, बिहुल आ त्रियुगा, सप्तकोशी नदीके बाढ़िके साथ बालु, ढुङ्गा आ माइट सिँचाइ आयोजनासभ झाँपल स s करोडौँ रुपैयाँ बराबरम क्षति भेल अछि ।

बाढ़ि'क कारण सडक सिँचाइ आयोजना कल्याणपुरमें हेडवर्कस आ गाइड बैंक टुटल, पाचम सिँचाइ आयोजना अर्नाहामें बालुसे झाँपल के क्षति भेल, शहिद गोविन्ददह सीतापुर आयोजनाके बेक फुइटके आ रिटेलिङ देवाल टुइट के खरब भगेल अछि , बलान सिँचाइ आयोजना मलहनिया बालुसे झाँपल गेल आ बैंकससेहो दहा गेल अछि । बिहुल सिँचाइ आयोजनाके हेडर्वक टुटल आ  पश्चिम तर्फसे बैंक गिरल खोला ओहिमे  समेट गेल अछि ।



और, क्षति भेल आयोजनामें सुरुङ्गा सिँचाइ आयोजना पोखरियामें बालुसे झाँपल गेल अछि, मोहुली सिँचाइ आयोजना जन्डोलमें खोला मिलगेल, बिघना सिँचाइ आयोजना कुशाहाके हेडवर्कस ओभर टन भेल, आअमसोत सिँचाई आयोजना प्रशवनीके हेडवर्कस ओभरटर्न भेल आ खडक सिँचाइ आयोजना मैनासहस्रबाहुके बैंक कटिंग भेल अछि।

ओहिने, बलान सिँचाइ आयोजना हर्दिया, देवधार सिँचाइ आयोजना जमुवा, पोर्डासिँचाइ आयोजना, सुन्दरी सिँचाइ आयोजना धर्मपुरके मुह झपगेल आ ठाम ठाममें  टुइट गेल, सिरेला बाँध सिँचाइ आयोजना बनोली बाँध दहा गेल अछि । भोक्रदह सिँचाइ आयोजना शम्भुनाथ–३ डगराहीके स्यिपल टुटल आ मुह झपागेल फुटल अछि  । अमहा सिँचाइ आयोजना मल्हनमें बाँध पूरारुप से क्षतिग्रस्त भेल नहर बिगड़ल  अछि । आ डुम्बर जोर सिँचाइ आयोजना हरिहरपुरके हेडवर्क आ बंैक क्षति भेल जानकारी देने अछि ।

कार्यालयके अनुसार क्षतिग्रत आयोजना तत्काल चलु करै के लेल नेपाली रु दश करोड ५० लाख लागत अनुमान अछि । पूर्णरुपमें आयोजनासभ पहिले के स्थितिमें लबैलेल नेपाली रु ४० करोडसे बेसी  खर्च लागत से कहलक। उ १८ टा आयोजना सञ्चालनसे सप्तरीके नौ हजार हेक्टर खेतीयोग्य जमिनमें सिँचाइ भरहल छेल। 



0 टिप्पणियाँ Blogger 0 Facebook

 
Apanmithilaa.com © 2016.All Rights Reserved.

Founder: Ashok Kumar Sahani

Top